Posts Tagged ‘gir cow’

Important Usage of Ghee from Indian Gir Cow

गाय के घी के महत्वपूर्ण उपयोग :– 1.A2 प्रकार गाय का घी नाक में डालने से पागलपन दूर होता है। 2. A2 प्रकार गाय का घी नाक में डालने से एलर्जी खत्म हो जाती है। 3. A2 प्रकार गाय का घी नाक में डालने से लकवा का रोग में भी उपचार होता है। 4.20-25 ग्राम घी व मिश्री खिलाने से शराब, भांग व गांझे का नशा कम हो जाता है। 5.गाय का घी नाक में डालने से कान का पर्दा बिना ओपरेशन के ही ठीक हो जाता है। 6.नाक में घी डालने से नाक की खुश्की दूर होती है और दिमाग तारो ताजा हो जाता है। 7.गाय का घी नाक में डालने से कोमा से बहार निकल कर चेतना वापस लोट आती है। 8. A2 प्रकारगाय का घी नाक में डालने से बाल झडना समाप्त होकर नए बाल भी आने लगते है। 9.गाय के घी को नाक में डालने से मानसिक शांति मिलती […]

Read More…

Awards And Achivements to Jasdan Gir Cow India

Gujarat; India boasts of many indigenous breeds of cow like Gir, Kankrej, Dnagi etc. all these breed are known for being the best and world renowned Milk and Draught cattle. However the Gir breed is considered much superior to all these breeds with regard to Milk purpose. Gir cows at Jasdan state an erstwhile princely state occupies a special position amongst all Gyr cattle because of their outstanding upkeep and ultimate care that they receive under the affectionate patronage of His Honor Sri Satyajitkumar S. Khachar the present state saheb of Jasdan. The cows at Jasdan have been certified for their best milking capacity and best draught breeds by Pashu Palak Niyamak; Gujarat and by Animal Husbandry commission of India. It has won nine certificates in All India Milk Field Competition and has acquired a pinnacle position as the best cattle breed with maximum tolerant nature overseas. The cattle at […]

Read More…